Posted by: रामेश्वर काम्बोज 'हिमांशु' | अगस्त 1, 2012

अँखियाँ बदरिया


भारत में रिमझिम सावन के मौसम के साथ ही  त्योहारों की रंग-बिरंगी शृंखला में राखी का पर्व बड़ी धूम-धाम से मनाया जाता है। भाई-बहन का रिश्ता एक भावभीना अहसास जगाता है। रक्षाबंधन का पर्व इसी रेशमी रिश्ते की पवित्रता का प्रतीक है| इस पर्व पर हाइकु परिवार की ओर से सभी को ढेर बधाई 21हाइकुकारों के 188 हाइकु के साथ !

रामेश्वर काम्बोज हिमांशु ; डॉ हरदीप कौर सन्धु 

1.वीरबाला काम्बोज

1

स्वार्थ से दूर

भाई बहन-प्रेम

बरसों चले ।

2

भैया की उम्र

बहन की दुआएँ

सदा बढ़ाएँ ।

********************

2. कमला निखुर्पा

उत्तराखंड में लगभग हर घर से एक बेटा या भाई देश सेवा के लिए सरहद पर तैनात रहता है।   दुर्गम पहाड़ों में रहने वाली बहनें सालभर अपने फ़ौजी भाई का इन्तजार करती है, अगर उसे छुट्टी नहीं मिलती तो वह लिफाफे में राखी, कुमकुम अक्षत फूल डालकर आँसुओं से लिफ़ाफ़े को अभिषिक्त कर डाक से राखी भेज देती है ।  उसी दर्द को हाइकु में उकेरने की कोशिश की है ।

1

मन सावन

अँखियाँ बदरिया

भैया ना आया ।

2

राह निहारे

सरहद पे भाई

सूनी कलाई।

3

रेशमी डोरी

राखी बन चमकी

नेह में भीगी ।

4

पाती में धरे

अक्षत कुमकुम

खैर मनाए ।

5

बहना रोई

रोया फड़फड़ाया

बंद लिफाफा ।

6

रेशमी राखी

उडी पंख फैलाए

ज्यों बन पाखी ।

7

डाकिया लाया

बहना की सौगातें

प्यारी बातें ।

8

खुली है पाती

बिखरा कुमकुम

चमकी राखी ।

9

कलाई सजी

अखियों में बरखा

होंठों पे हँसी ।

10

राखी को चूमे

बचपन में झूमे

सिपाही भैया ।

-0-

3-

डॉ अमिता कौण्डल

1

आशीष  डोरी

यह प्यार का धागा

मेरी ये राखी  

2

ढेरों सपने

इस राखी के संग

ओ प्यारे भैया  

3

याद है आता

बचपन सुहाना

राखी के दिन

4

आई है राखी

करती याद तुझे

मैं परदेसी

5

तेरी कलाई

सजती मेरे भैया

रेशमी डोरी

6

राखी का पर्व

बेटे को समझाते  

हम विदेशी

7

शुभ है दिन

सावन की पूर्णिमा

दीदी का प्यार

8

अटूट रिश्ता

बाँधे ये कच्चा धागा

पर्व- महिमा

10

बाँधे समाज

प्रेम का यह पर्व

शुभकामना !

-0-

4.-डॉ ज्योत्स्ना शर्मा

1

आई श्रावणी

श्रवण -सा भाई है

नैनों का नूर ।

2

नेह की डोर

बाँधी है मन पर

भैया तुम्हारे

3

शुभ कामना

अक्षत -रोली रहें

तिलक सजे ।

4

राखियाँ बनें

रक्षा- कवच शुभ

विपत हरें ।

5

रेशम स्पर्श

मन्त्र- अभिसिंचित

पुष्प वज्र -सा ।

6

भैया हमारा

मायके की माला का

मनका प्यारा ।

7

राखी है प्यार

राखियाँ हैं शपथ

रखना लाज ।

8

राखियाँ सजें

कलाई पे तुम्हारी

सुधियाँ मेरी ।

9

नैनों से दूर

एक मोती पिरोया

आँसू भिगोया ।

10

क्या दूँ तुम्हें

सुखमय जीवन

स्नेह अपार ।

11

 कुल दीपक

करना उजियार

यही उद्गार ।

-0-

5-मंजु गुप्ता

 1

 सलोनो पर 

राखियों से सजता
देश – विदेश ।                                                                             

2

रक्षाबन्धन 

दीदी – भाई का प्यार 

निभाता रिश्ता ।

3

रक्षाधागे से 

सुरक्षित बहनें 

आई सलोनो ।

4

भैया लाडले 

भुलाना ना बंधन 

है प्रेम धागा ।

5

रिश्ता राखी का 

निभे अंतिम साँस 

सजे कलाई ।

6

राखी है खास 

भेजूँ भैया के पास 

बन के प्यार ।

7

धागे के बल  

रक्षित हो ये जग 

कामना मेरी ।

8

लिफाफा बंद 

खुशियाँ राखी संग 

भेजे बहन ।

9

 चाँद – तारों से 

जड़ी  राखी है भाई 

यादें महकीं ,

-0-

6-महेन्द्र कुमार वर्मा

1

मेघ ने भेजी

रिमझिम के संग

धरा को राखी

2

आसमान में

उदास एक तारा

भाई बेचारा

3

सूनी है राखी

भाई गया विदेश

बहन उदास

4

राखी लाई है

सावनी उपहार

भाई का प्यार

5

ये कच्चे धागे

बंधन अनमोल

स्नेहपूरित ।

6

दूर देश से

राखी सुहानी आई

खुशियॉ लाई ।

-0-

7- सत्यनारायण सिंह

1

 निर्मल राखी

सुचिता की प्रतीक

सबको भाती

2

मन भावन

सावन संग आयी

राखी पावन

3

भैया  की प्यारी

गुडियी- सी दुलारी

बहना न्यारी

4

चाँद- सा प्यारा

है जग में निराला

भैया  हमारा

5

सजी कलाई

इस राखी समाई

सारी भलाई

6

राखी की डोर

मन बाँटे विभोर

प्यारा निहोर

7

रक्षा बंधन

मजहब से परे

दुख को हरे

8

याद दिलाती

इतिहास जगाती

पावन राखी

-0-

8- मंजु मिश्रा

1

रेशमी धागे

कहने को तो कच्चे

बाँधें जीवन

2

भाई बहन

संगी-साथी सदा के

सुख-दुःख में

3

रक्त का नाता

जो प्यार से सींचा तो

वृक्ष- सा बना !

4

बाँधे, भाई को

बहनों  के प्यार से 

छोटी -सी राखी

5

प्यार  बाँधतीं 

राखी में लपेट के

भाई के हाथ

6

बाँधे बहनें  

निभाएँ भाई सदा

राखी की लाज

7

रानी ने भेजी

रक्खा हुमायूँ ने भी

राखी का मान

8

राखी ने बाँधे

हृदय के बंधन

कच्चे धागे से

9

हैं अनमोल

राखी के धागे  बड़े

नेह  से भरे

10

शुभकामना है

सभी भाई बहनों

शुभ राखी की  !!!

-0-

9- सुशीला शिवराण
1
रक्षाबंधन
खुश भाई-बहना
न्यारा बंधन ।
2
रखड़ी आई
ले नव-उपहार
दिलों में प्यार ।
3
कर तिलक
बहन ले बलैयां
खिलाए मीठा ।
4

राखी बँधवा
भाई दें उपहार
कौल रक्षा का ।
5

आई रखड़ी
भैया बसे बिदेस
आँसू की झड़ी ।
6
राखी की लाज
बढ़ा द्रोपदी-चीर
राखी कान्हा ने ।

-0-

10-रामेश्वर काम्बोज ‘हिमांशु’

1

सैंकड़ों जन्म

हमने जब लिये

बहना मिली ।

2

कच्चे हैं धागे

गाँठ प्रेम की पक्की

खुले न कभी ।

3

बहने बसे

सात सागर पार

प्रेम -फुहार ।

4

भाई मनाए

बहन पर कभी

आँच न आए ।

5

‘कैसे हो सुखी

जब बहन दु:खी’-

सोचता भाई ।

6

चाँद  -सा माथा

बहन के टीके से

दमक उठा ।

7

भाई की याद

रह-रह के आती

आँसू ले आती ।

8

याद वो दिन

मेले घूमी बहन

उँगली थाम ।

9

भाई के काँधे

चढ़कर बहन

घूमी है खूब ।

10

जन्मों की साध

बहन रूप धारे

मिलने आई ।

11

लेके बलैयाँ

बढ़ाती है बहना

भाई की उम्र  ।

-0-

11-शशि पुरवार

1

आया है पर्व 

राखी का त्योहार 

स्नेह उल्लास ।

2

सजी दुकाने 

कलावे रंगबिरंगे

रेशमी धागे ।

3

आई है बहना

सजी पूजा की थाली

रेशमी डोरी  ।

4

पूजा की थाली 

रोली चावल बाती

अन्न मिष्ठान ।

5

ललाट -टीका

सजा रोली चावल 

नेह बरसे  ।

6

राखी की डोर 

स्नेह का है प्रतीक

रक्षाकवच ।

7

रक्षाबंधन  

आत्मीयता स्नेह 

मिश्री -मिठास ।

8

खास तोहफा 

बरसते आशीष 

जीवन भर  ।

9

भैया हमारा 

सर्वदा सकुशल  

यही मनाएँ ।

            -0-

Advertisements

Responses

  1. सभी हाइकु रचनाकारों को बधाई …राखी पर एक से बढ़ कर एक संवेदनशील हाइकु … पर्व की शुभकामनायें

  2. sabhi rachnakaro ko hardik badhai

    shukriya hamen bhi shamil karne ke liye

  3. सभी हाइकु उत्कृष्‍ट ! पर्व में चार चाँद लग गए ! सभी को राखी की ढेरों शुभकामनाएँ !
    रामेश्‍वर भाई जी और हरदीप बहन के चाँदनी से शीतल स्नेह ने सभी बहनों को स्नेह की डोर से बाँध दिया है।
    वे खूब यशस्वी हों !

  4. रक्षा बंधन के पावन पर्व पर प्रस्तुत भावपूर्ण हाइकु माला में मुझे भी स्थान देने के लिय हृदय से धन्यवाद और सभी के प्रति सुंदर ,स्वस्थ, यशस्वी जीवन की शुभ कामनायें ..!!
    नेह की डोर
    बाँधी है मन पर
    भैया तुम्हारे …सादर ज्योत्स्ना

  5. भावविभोर सबी हाइकुओं ने पर्व से सराबोर कर दिया .
    अनंत बधाइयों के साथ त्रिवेणी के कर्णधारों को असीम शुभकामनाएं .

  6. सभी हाइकु भावपूर्ण…हिन्दी हाइकु परिवार को रक्षाबंधन की हार्दिक शुभकामनाएँ !!

  7. सभी हाइकु बहुत सुन्दर…इस पावन पर्व पर सभी को बधाई…।

  8. रक्षाबंधन पर हाइकुओं का एक बडा संग्रह देखकर मन खुश हो गया आपका ये संग्रह यूँ ही दिन रात बढ़ता रही यही शुभकामनायें हैं। सभी हाइकुओं में भावनाएँ कूट-कूट कर भरी हैं सभी लेखकों को हार्दिक बधाई…


रचनाओं से सम्बन्धित आपकी सार्थक टिप्पणियों का स्वागत है । ब्लॉग के विषय में कोई जानकारी या सूचना देने या प्राप्त करने के लिए टिप्पणी के स्थान पर पोस्ट न करके इनमें से किसी भी पते पर मेल कर सकते हैं- hindihaiku@ gmail.com अथवा rdkamboj49@gmail.com.

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / बदले )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / बदले )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / बदले )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / बदले )

Connecting to %s

श्रेणी

%d bloggers like this: