Posted by: हरदीप कौर संधु | अगस्त 1, 2012

प्यार-फुहार


भारत में रिमझिम सावन के मौसम के साथ ही  त्योहारों की रंग-बिरंगी शृंखला में राखी का पर्व बड़ी धूम-धाम से मनाया जाता है। भाई-बहन का रिश्ता एक भावभीना अहसास जगाता है। रक्षाबंधन का पर्व इसी रेशमी रिश्ते की पवित्रता का प्रतीक है| इस पर्व पर हाइकु परिवार की ओर से सभी को ढेर बधाई 22 हाइकुकारों के 192 हाइकु के साथ !

रामेश्वर काम्बोज हिमांशु ; डॉ हरदीप कौर सन्धु

1. डॉ सुधा गुप्ता

1

चाँदी के थाल

राखी सजाके लाई

बहना पूनो ।

2

नभ के माथे

गोरोचन का टीका

प्राची लगाती ।

3

सावनी पूनो

भरी गोद आई है

लाई सलूनो ।

4

परी-सी सजी

छोटी बहना बाँधे

भैया को राखी ।

5

भाई जो आया

 बहन के मुख पे

खिले गुलाब ।

6

प्यार-फुहार

दिलों को सींच गई

नए सिरे से ।

7

नई सदी है

डाक से राखी आई

फोन से वार्त्ता ।

8

सूनी कलाई

विदेश में भाई की

आँख भरी है ।

-0-

2- डॉ भावना कुँअर

1.

दुकानों पर

लगा जो राखी मेला

है अलबेला।

2.

टूटता नहीं

ये मधुर संबंध

रक्षाबंधन।

3.

बँधा  है आज

पवित्र धागे संग

दोनों का प्यार।

4.

चावल रोली

थाल,राखी,मिठाई

आया है भाई।

5.

खूब पनपे

भाई-बहन प्यार

सजे त्योहार ।

6.

सुन्दर कोमल

प्यार का ये बंधन

रक्षाबंधन।

7

अनूठा प्यार

लिपटा धागे संग

है बेशुमार।

8

पड़ी है सूनी

या की कलाई

राखी न आई।

9

परदेस में

राह देखता भाई

राखी ना आई।

10

सूनी कलाई

आँखें डबडबाई

फूटी रुलाई।

11

अकेला भाई

बिन बहना फिर

राखी न भाई।

12

इंतजार में

टिकी दरवाजे पर

भीगी पलकें।

13

शहीद हुआ

भारत माता पर

भाई अमर।

-0-

3-डॉ जेन्नी शबनम

1

भैया न जाओ 

मेरी बलाएँ ले लो 

राखी बँधा  लो 

 2

बाट जोहते

अक्षत, धागे, टीका 

राखी जो आई ।  

3

बहन देती 

हाथों पे बाँध राखी  

भाई को दुआ

4

राखी का सूत

बहनों ने माना 

रक्षा कवच  ।

5

बहना खिली

रखिया बँधवाने  

भैया जो आया 

6

रंग -बिरंगी 

कतारबद्ध राखी 

दूकानें  सजी ।

7

पावन पर्व

ये बहन भाई  का

रक्षा बंधन 

 ८.

भूले त्योहार  

आपसी व्यवहार  

बढ़ा व्यापार  ।

 ९.

चुलबुली-सी

कुदकती बहना 

राखी जो आई । 

१०.

बहन का प्यार

राखी-पर्व जो आता  

याद दिलाता ।

११.

मन भी सूना  

किसको बाँधे राखी 

भाई पीहर 

१२.

नहीं सुहाता 

सब नाता जो टूटा  

रक्षा बंधन  ।

१३,

नन्ही कलाई 

बहना ने सजाई 

देती दुहाई 

१४.

भाई है आया 

ये धागा खींच लाया 

है मज़बूत ।

१५.

राखी जो आ

भाई को खींच लाई 

बहना- घर 

4- प्रियंका गुप्ता

1

रक्षा का पर्व

  भाईबहन बँधे

  एक सूत्र में ।

2

बहना बाँधे

भाई की कलाई पे

प्रेम का धागा ।

3

भाईबहन

   अटूट बना नाता

   एक धागे से ।

4

जो कुछ माँगा

  भैया ने सब दिया

   बिना शर्त के ।

5

 तोड़े न टूटे

   ऐसा यह बंधन

   कच्चे धागे का ।

6

छोटा सा भैया

   गोदी में जब लिया

   ममता जागी ।

7

चिठ्ठी से भेजी

   स्नेह में पगी डोर,

   भैया ने बाँधी ।

8

चलना सीखे

   दीदी का हाथ थाम

   नन्हा सा भैया ।

9

 रोई बहना

   भैया बसा विदेश

   हुआ पराया ।

 

10

 भैया ने थामा

    लड़खड़ाई जब

    छोटी बहना ।

5- कृष्णा वर्मा  

1

गुँथा तार में

भाई-बहन प्यार

बेशकीमती।

2

भाई-बहन

अनुपम संबंध

नेह- आधार।

3

बहन सदा

माँगे सुख भाई का

सांस की लय।

4

अनोखा प्यार

अनूठा समर्पण

शब्द रहित।

5

कोमल डोरी

शक्ति देख लजाए

लोह जंजीर।

6

भाग्यवान हैं

जिनकी कलाई से

बंधता स्नेह।

7

उम्र पर्यंत

भाई करे स्वीकार

रक्षा का भार।

8

बैठी विदेश

भेजे राखी संदेश

भीगी आँखों से।

9

भाई की भेंट

ह्रदय से लगा के

सहेजे स्नेह।

10

कभी ना टूटे

मृदु रिश्तों की तार

आपसी प्यार।

6- ऋता शेखर मधु

 1

सबसे प्यारा

लगे इस जहाँ में

भाई हमारा ।

 2

स्नेह दर्शाता

रेशम राखी-धागा

रक्षा का वादा।

 3

श्रावणी झड़ी

बहना ले के खड़ी

राखी की लड़ी।

 4

रेशम-धागे

स्नेह-बंधन बने

टूट न पाए ।

 5

राखी की लाज

सदा तुम निभाना

वादा दो आज ।

 6

शुभ-आशीष

सदा तुम्हारे लिए

, भाई मेरे ।

 7

रक्षाबंधन

पर्व दिव्य-प्रेम का

बताने आता।

 8

सजी थालियाँ

कुंकुम, राखी संग

मिष्टान्न सजे ।

9

भइया आया 

श्रावणी पूर्णिमा को

उल्लास छाया ।

10

भाई हों सुखी

आशीर्वादों की झोली

बहनें भरें ।

-0-

7-डॉ सरस्वती माथुर

1

बहने हैं होती

अनुभूति से भरी

मिश्री -मिठास ।

2

शुभ- मुस्कान

रिश्ते की घनी छाँव

रक्षाबंधन  ।

3

मखमल -सी

बँधी कलाई पर

चमकी राखी  ।

4

रिश्ते की डोर

भाई की कलाई पे

आस्था से बाँधी

5

मधुर यादें

भाई- बहिन भीगे

राखी रस में ।

6

सावन आया

मधुर रस घुला

राखी पर्व’ में ।

7

बहिन हँसें

मनभावन प्यार

राखी पे बाँध

8

भाई का मन

झलकता आँखों से

रिश्ता पावन ।

9

भाई -बहिन

रक्षा पर्व की वर्षा

भीगते दोनों  ।

10

दूर देश से

डोरी लायी बहना

रिश्तों को बाँधा। ।

-0-

 8सुरेश चौधरी

1

प्यारी बहना

ये धागे का बंधन

खुश है भाई ।

2

अटूट रिश्ता

भाई का बहन से

रक्षा बंधन  ।

3

उनींदी आँखे

भैया अब आएँगे

गले लगाऊँ ।

4

भैया का प्यार

लौटा दे बचपन

भूलती नही ।

5

भैया की लाडो

बहना का संसार

आँखों का तारा  ।

6

पूजन थाल

रोली अक्षत सोहे

भाई का भाल  ।

7

भैया चंदा -सा

बहना पुष्प हार

अनोखा प्यार  ।

-0-

9-रेनु चन्द्रा

1

मनभावन

भादव की पूर्णिमा

रक्षा बन्धन।

2

पवित्र रिश्ता

है रेशमी धागों का

राखी का पर्व।

3

ढ़ेर सा लाड़

शुभकामना सभी

भाई के लिये।

4

बहिन चली

राखी औ मिठाई ले

भाई के द्वार।

5

राखी भेजी है

कलाई पे बाधँना

स्नेह समझ।

6

प्रभु ने रचा

भाई व बहिन का

सच्चा ये रिश्ता।

7

रोली अक्षत

रेशमी धागे लिये

बहिना खड़ी।

8

इन्तज़ार में

भैय्या तुम आ जाना

कुछ न लाना।

9

माँ के जैसा ही

पावन यह रिश्ता

भाई के लिये।

10

तू न डरना

मैं हूँ न तेरे लिये

मेरी बहिना

10. डॉ हरदीप कौर सन्धु 

1.

धागा रेशमी

बंधा मोह रेशमी 

रिश्ता रेशमी  ।

2.

महीन डोरी

गुंफित है विश्वास 

बंधी कलाई  ।

 3. 

रेशम- डोरी 

बँधे भाई -कलाई 

अनंत प्यार ।

Advertisements

Responses

  1. भाई बहन के स्नेह को अद्भुत भावों में पिरोया है … सुंदर

  2. रक्षा बंधन के पावन पर्व पर भावपूर्ण हाइकु माला प्रस्तुत की है आपने ….हृदय से धन्यवाद और सभी के प्रति सुंदर ,स्वस्थ, यशस्वी जीवन की शुभ कामनायें ..!!

  3. सभी हाइकु बहन भाई के पवित्र प्रेम को समर्पित. काम्बोज भाई को सादर प्रणाम! सभी को रक्षा बंधन की शुभकामनाएँ.

  4. अद्बुत -अप्रतिम हाइकु के बधाई .

    मंजु गुप्ता .

  5. सभी हाइकु भावपूर्ण…हिन्दी हाइकु परिवार को रक्षाबंधन की हार्दिक शुभकामनाएँ !!

  6. सभी को रक्षा बन्धन की हार्दिक शुभकामनाएँ…।
    सुन्दर हाइकुओं संग इस त्योहार का आनन्द दुगुना हो गया ।

  7. रक्षाबंधन पर हाइकुओं का एक बडा संग्रह देखकर मन खुश हो गया आपका ये संग्रह यूँ ही दिन रात बढ़ता रही यही शुभकामनायें हैं। सभी हाइकुओं में भावनाएँ कूट-कूट कर भरी हैं सभी लेखकों को हार्दिक बधाई…


रचनाओं से सम्बन्धित आपकी सार्थक टिप्पणियों का स्वागत है । ब्लॉग के विषय में कोई जानकारी या सूचना देने या प्राप्त करने के लिए टिप्पणी के स्थान पर पोस्ट न करके इनमें से किसी भी पते पर मेल कर सकते हैं- hindihaiku@ gmail.com अथवा rdkamboj49@gmail.com.

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  बदले )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out /  बदले )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  बदले )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  बदले )

Connecting to %s

श्रेणी

%d bloggers like this: