Posted by: डॉ. हरदीप संधु | जुलाई 4, 2012

वार्षिक आयोजन


आज हिन्दी हाइकु अपनी यात्रा के दो साल पूरे करके तीसरे वर्ष में प्रवेश कर रहा है । आज जो हाइकु दिए जा रहे हैं, इनको चुनने  का दायित्व हाइकुकारों को दिया गया था । अत: आज के हाइकु रचनाकारों की अपनी पसन्द के दो-दो हाइकु हैं।

डॉ हरदीप सन्धु और रामेश्वर काम्बोज ;हिमांशु’

 

1-अमिता कौण्डल

1
मासूम हँसी

भर देती साहस

हारे मन में

2
उलझी साँसे

बस इक प्रतीक्षा

तुम आओगे  ।

-0-

2-अनीता कपूर

1

मेरा आकाश

तेरी हथेली पर 

गिरना मत ।

2

जल ही गई

सिगरेट उम्र की

धुआँ भी नहीं  ।

-0-

3-ज्योतिर्मयी पन्त

 1

घूँघट ओट

सतरंगी सपने

खुली आँखों में  

2

पराये हाथ

सौंपी जीवन– डोर

उड़े या गिरे

4-ज्योत्स्ना शर्मा

1

संध्या -सुन्दरी

सुनहरी अलकें

खोले पवन ।

2

पीर- नदी की

कैसे प्यास बुझाऊँ

तप्त सदी की  ।

-0-

 

5-दिलबाग विर्क 

1

मन्दिर में है

प्रतिरूप खुदा का 

बच्चे में खुद  ।

2

ओ परदेसी !

लौट आओ वतन

पुकारें रास्ते

-0-

6-निर्मला कपिला

1

 आँसू बहेंगे

 जब तक दुख ये

 साथ रहेंगे ।

2

घर की रानी

पलकों मे रहता

खारा सा पानी

-0-

7-प्रियंका गुप्ता

1

शीशे में देखा

मेरे काँधे पे लगा

  माँ का चेहरा |

2

मैं इंसाँ बना

आँखों में आँसू आए 

मुद्दतों बाद |

-0-

8-मंजु मिश्रा

1

दर्पण, जैसे

धूल पोंछ चमके;

झलकी  याद

2

मन बाँचता, 

जनम पतरी -सा  

यादों का खाता

-0-

9-रेनू चन्द्रा

1
नीला आसमाँ
पंख पंछी के लिये
भरी उड़ान ।
2
नीला सागर
गहरा भेद लिये
आँखें बरसी।-

-0-

10-सुरेश चौधरी 

1

आत्म-मंथन 

पृथा -सा धीर बनूँ 

सृष्टि से सीखूँ ।

2

तृषित धरा 

कृषक खुश होंगे 

आ भी जा मेघ !

-0-

11-डॉ जेन्नी शबनम

1

मुझे ना काटो

गिड़गिड़ाया वन

सूखेगी धरा  ।

2

पृथ्वी झुलसी

सूरज ने उगला

जलता लावा

-0-

12-ॠताशेखर मधु

 1

आशा- विश्वास

माता -पिता हों जैसे

धरा- आकाश|

2

पीर- गठरी

खुलने को आतुर

स्नेह- स्पर्श से|

-0-

13-तुहिना रंजन

1

चांदनी सोयी 

अमावस की रात 

जागते तारे   

2

दिन गुज़रा 

सांझ तक रुका था 

रात न मिली          

-0-

14-सुशीला शिवराण

1

जेठ की गर्मी

गोरैया तके मेह

रेत नहाए !

2
मन चंचल
लाख
रोकूँ ना माने
तेरा
ही ख्याल
-0-

15-उमेश मोहन धवन

1

विरह -टीस

उठी दिल में ऐसी

मैं मैं ना रही

2

रिस ना जाएँ

रिसते रिसते ही

दिलों के रिश्ते

-0-

16- कृष्णा वर्मा

 1

झिलमिलाता

झील में सूरज ज्यों

कंचन कनी।

2

पुष्पों की सेज

पलकों पे सजा के

मुस्काए दूब।

-0-

 

17- डा. रमा द्विवेदी

बाँचते गए

वधुओं की यातना

मूक बनके

 2

प्रेम में धोखा 

ओस पर जलते 

दिल के ज़ख्म  ।

 -0-

Advertisements

Responses

  1. Hindi Haiku ke 2 saal pure hone par aap donon ko dher saari hardik badhai.ye haiku yaatra yun hi saalon dar saalno chalti rahe yahi ishvar se prarthna hai…

  2. “हिन्दी हाइकु” को तीसरे वर्ष में प्रवेश करने पर हार्दिक बधाई ! “हिन्दी हाइकु” आने वाले वर्षों ऊँचाई के नए आयाम छूए यही प्रार्थना है।
    सभी रचनाकारों को सुंदर हाइकु के लिए बधाई !

  3. हिंदी हाइकु के रचनाकारों और पाठकों को हिंदी हाइकु के तीसरे साल में प्रवेश के लिए बधाई .. हाइकु की कलात्मकता को नया आयाम मिले … सादर

  4. हिन्दी हाइकु अपनी यात्रा के तीसरे वर्ष में प्रवेश करने के शुभ अवसर पर हरदीप जीऔर हिमांशु जी को ढेर सारी शुभकामनाएँ एवं सभी हाइकु रचनाकारों को बधाई …बहुर सुन्दर प्रयास …

  5. ‘हिन्दी हाइकु’ को तीसरे वर्ष में प्रवेश करने पर हार्दिक बधाई…हाइकु परिवार यूँ ही समृद्ध होता रहे और बुलन्दी के सातवें आसमान पर पहुँचे…। आदरणीय काम्बोज जी, हरदीप जी और इस हाइकु परिवार के सभी सदस्यों को मेरी बधाई व शुभकामनाएँ…।

  6. हिन्दी हाइकु के दो साल पूरे होने पर बधाई और तीसरे वर्ष में प्रवेश करने पर शुभकामनायें ….सभी हाइकु बेहतरीन

  7. हिन्दी हाइकु के तीसरे प्रवेश वर्ष पर बहुत बहुत बधाई। ये हर्दीप जी व हिमँशू भाई जी के प्रयास का ही फल है। सभी हाइकु बहुत अच्छे लगे।

  8. ‘हिन्दी हाइकु’के सफलतापूर्वक दो वर्ष पूरे होने पर समस्त हाइकु परिवार एवं हिमांशु जी तथा हरदीप जी को विशेष रुप से बधाई।
    ईश्वर से प्रार्थना है कि आप इसे यूँ ही उन्नति के शिखर पर ले जायें।
    हाइकु सभी बहुत अच्छे लगे।
    रेनु चन्द्रा

  9. हाइकु महापर्व हिमांशु जी तथा हरदीप जी अनंत बधाइयाँ .
    मैत्री – प्रेम – समाजिकता से गढा हाइकु कारवाँ जग में अपना परचम फैलाए
    सारे हाइकु रचनाकारों को बधाई
    मंगल कामनाओं के साथ –
    मंजु गुप्ता
    वाशी , नवी मुंबई .

  10. हार्दिक बधाई……………….

  11. क्‍या मैं आपका सदस्‍य बन सकता हूं

  12. आप सब की मेहनत और रचनाओं का ही सुफल है जो आज यह ब्‍लॉग तीसरे वर्ष में प्रवेश कर रहा है, बहुत-बहुत बधाई और शुभकामनाएँ!

  13. hardeep ji aur himanshu ji aap dono ko apar badhai
    rachana

  14. हिंदी हाइकु हमारे जीवन का अभिन्न अंग बन गया है. हिंदी हाइकु के दो वर्ष पूर होने पर हिमांशु जी, हरदीप जी तथा सभी हाइकुकारों को बहुत बहुत बधाई!

  15. आप क्या कोई भी सकारात्मक सोच वाला रचनाकार हमारा सद्स्य बन सकता है । आप हमारे सदस्य बन गए हैं!

  16. umesh mohan dhawan ji ko bahut badhai……ris na jaayain riste riste……….

  17. दो वर्ष पूरे होने पर हार्दिक बधाई।

  18. waah bahut sundar sabhi ek se badhkar ek sabhi rachnakaro ko meri hardik shubhkamnaye .

  19. ”हिन्दी हाइकु’ के तीसरे वर्ष में प्रवेश पर बहुत बहुत बधाइयाँ ।वसुधैव कुटुम्बकम को सार्थक करता हुआ यह परिवार सब प्रकार से उन्नति को प्राप्त करे तथा ऐसे उत्सव आयोजित करता रहे …यही शुभ कामनायें हैं ।

  20. हाइकु परिवार को बधाई और शुभकामनाएँ.

  21. आज ही देखा ये अनमोल पोस्ट.. !

    २०१३ में तो तीन साल होने जा रहे हैं.. ! अग्रिम शुभकामाएं !


रचनाओं से सम्बन्धित आपकी सार्थक टिप्पणियों का स्वागत है । ब्लॉग के विषय में कोई जानकारी या सूचना देने या प्राप्त करने के लिए टिप्पणी के स्थान पर पोस्ट न करके इनमें से किसी भी पते पर मेल कर सकते हैं- hindihaiku@ gmail.com अथवा rdkamboj49@gmail.com.

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / बदले )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / बदले )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / बदले )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / बदले )

Connecting to %s

श्रेणी

%d bloggers like this: