Posted by: डॉ. हरदीप संधु | अक्टूबर 25, 2011

दीपमालिका-1


दीपावली के पावन पर्व पर आप सबको कोटिश: मंगलकामनाएँ ! हर आँगन हर द्वार, फैले खुशहाली का उजियार ; इसी मंगलकामना के साथ 119 हाइकु के ये दीप ‘हिन्दी हाइकु’ की ओर से प्रस्तुत हैं-

डॉ हरदीप कौर सन्धु -रामेश्वर काम्बोज ‘हिमांशु’

 

1-रामेश्वर काम्बोज हिमांशु’

1

भीतर मिट्टी

विश्वासों की हो यदि

उगते भाव

2

भीतर भाव

प्रेम पगे हों  तब

जगे लगाव

3

दीया जलेगा

जब मन मे नेह

भरा हुआ हो

4

जग जागेगा

जब दिल रौशन

सबका होगा

5

मुस्कराएँगे

आँधियों में भी हम

ये वादा रहा

6

तूफ़ान आए

सिर नहीं  झुकाएँ

उजाला करें

7

अन्धेरा क्या है ?

रोके दे  जो हमारी

सही बाट को

8

वही है मरा

जो अँधेरों से डरा

हार न मानो

9

छल का तेल,

भाव-विष की बेल,

तम के मूल

10

मन का तम

हटाना जो चाहो

ज्योति जगाओ

-0-

2- मंजु मिश्रा

1

दिए के साथ

आंधियों का रिश्ता ज्यों

सुख-दुःख का 

2

एक के बिना

दूजे का अस्तित्व है

आधा -अधूरा 

3

माँ जैसी ये

कच्ची मिट्टी देती है

जन्म दिए को  

4

माटी ने दिया

जीवन दिए को तो

दिए ने ख़ुशी 

5

अँधेरे चीर

चमकी जो किरण

फैला उजाला  

6

घर -घर में

सजी दीपमाला ज्यों

तारों की लड़ी

7

खूब सजाओ

रोशनी के बाज़ार

खुशियाँ बेचो

8

दिवाली शुभ !

दिल में ये कामना

सबके लिए

9

भेद-भाव को

छोड़ पीछे सबको

लगालो गले

10

ईश्वर करे

सबको ये दिवाली

जी भर फले

0-

3-डॉ भावना कुँअर

1

दीपक जला

रौशन हर दिशा

अँधेरा टला

2

जलाओ दीए

अमावस की रात

नवप्रभात

3

रही रखती

अँधेरी अटारों पे

रोशनी मोती

4

फैला प्रकाश

इन्द्रधनुष जैसे

देखो ना कैसे

5

दीप -कतारें

चमकीले सितारे

अँधेरा हारे

6

दीवाली पर्व

अमावस की रात

नभ उदास

7

चाँद बेचारा

देख दीप शिखाएँ

मुँह छुपाए

8

लेकर आई

चूनर चाँदनी की

रात अँधेरी

9

चाँद मनाए

रूठ बैठी चाँदनी

मुँह फुलाए

10

आँधियाँ चलीं

बुझने लगे दिए

वीरान गली

11

दीप उदास

कौन छीन ले गया

नेह- प्रकाश

12

मिटा न सका

गम का अँधियारा

नन्हा -सा दीया

13

मन के दीए

जब मित्रों ने छुए

रौशन हुए

14

अँधेरे हटा

उगाएँगे सूरज

हर आँगन

15

रात भर ही

रोता रहा अँधेरा

रूठी चाँदनी

-0-

4- डॉ अनीता कपूर

 1

 हँसती शाम

ओढ़े है चुनरिया

झालर वाली

2

फूटा प्रकाश

दीयों से निकलता

दिलों को छूता

3

खिलखिलाती
हंसती दिया बाती
मने दिवाली

4

हुई बावरी
दिवाली अंग -अंग
जलाती दीप

5

चाँद सो गया
देख दीप तमाशे
हंसी दीवाली

 6

मिट्टी का दिया
शंखनाद दीवाली
सजा थाली
-0-

5-रचना श्रीवास्तव

1

मन -अँधेरा
जब मिट  जाता  है
होती दीवाली
2
तमस मन
उजियारा है कहाँ
जग उदास
3
ख़ुशी  के दीप
ताखे पे धरो तुम
प्रकाश खिले
4

मन में दीप
आँगन में हो प्रेम
लक्ष्मी न रूठे
5
दिए की बाती

स्वयं जलती  जब
उजियारा हो

6
आँचल भरो
प्रकाश के पुष्पों से
तो दीवाली हो
7

अँधियारों से
प्रकाश पराजित ?
कदापि नहीं
8

उम्मीद टूटे
आशा-दीप  जलाओ
अँधेरा छटे
9

ज्योतिर्मय हो
खुशियाँ  लहराए
दीप जलाएँ
10

सबका घर
प्रकाशमय रहे
प्रार्थना करे
11
एक अनार
हर चौखट जले
प्रार्थना करे
12
पेट में रोटी
इज्जत ढकी रहे
प्रार्थना करें
13

बच्चों के हाथ
फुलझड़िया जले
प्रार्थना करें
14

खील बताशे

आँगन में बिखरें
प्रार्थना करें
15
दिए ही जले
घर किसी का नहीं
प्रार्थना करे !

-0-

6-मीरा ठाकुर

1

पटाखे छूटे

मन के अंधेरे भागे

उजाले छाये

-0-

7-ऋता शेखर ‘मधु’

सिखों की जीत

रोशनी से नहाया

स्वर्ण मंदिर

2

गृह की लक्ष्मी

जो दें उन्हें सम्मान

वे धनवान

3

मन का तम

असंख्य दीपक भी

हर न पाते

4

संध्या का दीया

अविराम जलता

उषा को पाता

5

जलता दीया

अंधेरे से जूझता

नहीं हारता

6

प्रकाशोत्सव

नई फ़सल का भी

है ये उत्सव

-0-

8-नीलू गुप्ता

1

घर- घर में

ज्योतिर्मय दिवाली

हो  खुशहाली
2
धन सम्पदा

हर घर बरसे

सब हरषें

3
ॠद्धि व  सिद्धि

सम्पूर्ण करें काज

मने दिवाली
-0-

 

Advertisements

Responses

  1. Ap sabko dipavali ki bahut saari shubkamnayen…bahut achchhe haiku hain bahut2 badhai…

  2. दीपावली पर आपको और परिवार को हार्दिक मंगल कामनाएं !
    सादर

  3. बहुत सुन्दर हाइकु हैं…। दीपावली की मंगलकामना आप सभी के लिए…।

  4. sabhi haaiku bahut sundar, aap sabhi ko deepaawali kee shubhkaamnaayen.

  5. सुंदर हाइकु

    दीपावली की हार्दिक शुभकामनाएं।

  6. दीपमालिका पर आधारित सभी हाइकु बहुत सुन्दर हैं ….आपको और आपके परिवार को प्रकाश पर्व की हार्दिक शुभकामनाएं …

  7. Bahut sunder haiku

    Aap sab ko Deepawali ki haardic shubh kamnayen.

  8. सभी सुन्दर हाइकुओं के लिये बहुत बहुत बधायी। दीपावली की शुभकामनायें आप सभी के लिए…।

    उमेश मोहन धवन
    कानपुर

  9. is deep mala ke liye aapka aur hardeep ji ka dhnyavad.is mala ka ek deep me bhi hoon .iske liye bhi aapka abhar.
    ye jyoti sada aese hi jalti rahe isi kamna ke sath sabhi ko deepawali ki shubhkamnayen.
    rachana

  10. बहुत सुन्दर हाइकु हैं दीपावली पर आपको हार्दिक शुभकामनायें
    सादर

  11. शुभ दीपावली

  12. हिन्दी -हाइकु की दीपमालिका को सजाने में आप सब रचनाकार साथियों का सहयोग सराहनीय और उत्साहवर्धक है । आप सबके स्नेह और सहयोग के कारण ‘हिन्दी हाइकु’ का विस्तार 43 विभिन्न देशों तक हो चुका है ।
    डॉ हरदीप कौर सन्धु -रामेश्वर काम्बोज ‘हिमांशु’


रचनाओं से सम्बन्धित आपकी सार्थक टिप्पणियों का स्वागत है । ब्लॉग के विषय में कोई जानकारी या सूचना देने या प्राप्त करने के लिए टिप्पणी के स्थान पर पोस्ट न करके इनमें से किसी भी पते पर मेल कर सकते हैं- hindihaiku@ gmail.com अथवा rdkamboj49@gmail.com.

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / बदले )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / बदले )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / बदले )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / बदले )

Connecting to %s

श्रेणी

%d bloggers like this: