Posted by: हरदीप कौर संधु | सितम्बर 25, 2011

बिटिया दिवस पर विशेष


बिटिया दिवस(डॉटर्स डे ) की शुरुआत 2007 से हुई। यूनिसेफ, क्राई और आर्चीज़ ने मिलकर बिटिया दिवस की शुरुआत की। यूनिसेफ और क्राई ने पहले24 सितंबर 2007 को बिटिया दिवस के रूप में मनाने का निश्चय किया था,मगर बाद में इसमें बदलाव कर सितंबर का चौथा रविवार चुना गया और पहली बार यह सितंबर के चौथे रविवार यानी 23 सितंबर, 2007 को मनाया गया। आप इस दिन को अपनी बेटी के साथ सेलिब्रेट करें। डॉटर्स डे को मनाए जाने की सबसे बड़ी वजह थी कि हर रोज 100 से भी ज्यादा लड़कियों को जन्म लेने से पहले ही मार दिया जाता है या जन्म लेते ही लावारिस छोड़ दिया जाता है। आज भी समाज में कई घर ऐसे हैं, जहां बेटियों को बेटे के मुकाबले अच्छा खाना और अच्छी पढ़ाई नहीं दी जा रही हैं। इन्हीं सब भेदभाव को मिटाने के लिए बिटिया दिवस मनाने पर जोर दिया गया।

1.

प्यारी बेटियाँ 

हैं शुभकामनाएँ 

ठण्डी हवाएँ 

2.

प्यारी बिटिया 

सुबह की आरती 

पावन वाणी 

3.

प्यार-प्यार ही 

पावन दुआ जैसी 

बिटिया होती

4.

बेटियों से तो 

घर है गुलशन 

खिला आँगन 

5.

आज फिर क्यों 

दहेज  बलिवेदी 

चढ़ी दुल्हन 

6.

माँ मजबूर 

कोख में बेटी कत्ल 

समाज चुप 

डॉ. हरदीप सन्धु 


Responses

  1. हरदीप जी,अच्छी लगी हाईकू. बिटिया दिवस पर आपको भी बधाई

  2. 1 से 4 प्यारी…5,6 मार्मिक।
    मैने लिंग भेद पर एक दोहा लिखा था। अर्ज है…

    बिटिया मारें पेट में, पड़वा मारें खेत
    नैतिकता की आँख में, भौतिकता की रेत।

    ..अच्छा लगा पढ़कर।

    बेटियाँ
    मनाती हैं माँ दिवस
    माएं
    नहीं जान पातीं
    कोई दिवस
    क्योंकि
    उनकी जान तोअटकी होती है
    बेटियों पर ही।

  3. हरदीप जी, बिटियों से जुड़े आपके ये हाइकु बहुत अच्छे लगे …

  4. माँ मजबूर
    कोख में बेटी कत्ल
    समाज चुप |

    लोग ऐसे जघन्य कृत्य के ख़िलाफ़ भी चुप रहते हैं, दुःख तो इसी बात का है…। बहुत महत्वपूर्ण बात प्रस्तुत की है आपने हाइकु के माध्यम से…बधाई…।

  5. देर से आना हुआ देर से ही सही आपको भी बिटिया दिवस की हार्दिक शुभकामनाएँ ..

    माँ मजबूर
    कोख में बेटी कत्ल
    समाज चुप …

    एकदम सही लिखा समाज तो ऐसी जगह गूँगा बहरा हो जाता है अब माँओं को ही इस कृत्य को रोकना होगा,मुझे तो गर्व है अपनी दोनों बेटियों पर किसी के भी दवाब में आकर मैंने कोई टेस्ट नहीं कराया आज उन दोनों को देखे बिना मेरी साँसे रूकी रहती हैं मेरे जिगर के टुकडे हैं वो दोनों।
    बहुत अच्छे हाइकु लिखे आपने हार्दिक बधाई…

  6. बेटिओं से तो
    घर है गुलशन
    खिला आँगन
    बहुत अच्छे हाइकु… हार्दिक बधाई…

  7. deri se aai mafi
    pr aapne betiyon pr kkya sunder likha hai man aanandit huaa .betiya anmol hai aap ko is din ki bahut bahut shubhkamnayen.
    rachana

  8. हरदीप जी आपके ये दो हाइकु तो बेजोड़ हैं . बेटी जैसे रिश्तों पर पहले हाइकु तो लिखे गए हैं पर इतने मार्मिक नहीं. ये तोबेजोड़ हैं-
    1.

    प्यारी बेटियाँ

    हैं शुभकामनाएँ

    ठण्डी हवाएँ

    2.

    प्यारी बिटिया

    सुबह की आरती

    पावन वाणी

    3.

    प्यार-प्यार ही

    पावन दुआ जैसी

    बिटिया होती

  9. हरदीप जी बहुत अच्छे हाइकु हैं. बेटियां सच में खुशियाँ और चहक ले कर आती हैं सबके आँगन खिलखिलाती हैं. चाहे मायका हो या ससुराल पर उन्हें समझते बहुत कम हैं.
    सादर,
    अमिता कौंडल

  10. Hardeep Ji,
    Bitiya diwas par bahut sundar aur maarmic haiku likhe hain. Haardic badhaee.

  11. बिटिया दिवस पर बहुत-बहुत सुन्दर- सटीक हाइकु ….बधाई व शुभकामनाएं

    डा. रमा द्विवेदी

  12. हर्षित हूँ आपको मेरे हाइकु अच्छे लगे | आपने हाइकुओं पर अपने अमूल्य विचार दिए और इन में एक नई जान फूँक दी |
    आपके आत्मीय विचारों ने मेरा उत्साह बढ़ाया |
    इसी तरह आत्मीयता बनाएं रखें।
    हार्दिक धन्यवाद एवं आभार।
    हरदीप

  13. हृदयस्पर्शी हाइकू ! बधाई


रचनाओं से सम्बन्धित आपकी सार्थक टिप्पणियों का स्वागत है । ब्लॉग के विषय में कोई जानकारी या सूचना देने या प्राप्त करने के लिए टिप्पणी के स्थान पर पोस्ट न करके इनमें से किसी भी पते पर मेल कर सकते हैं- hindihaiku@ gmail.com अथवा rdkamboj49@gmail.com.

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  बदले )

Google photo

You are commenting using your Google account. Log Out /  बदले )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  बदले )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  बदले )

Connecting to %s

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

श्रेणी

%d bloggers like this: