Posted by: रामेश्वर काम्बोज 'हिमांशु' | अगस्त 22, 2011

जन्माष्टमी


हिन्दी हाइकु परिवार की ओर से सबको कृष्ण -जन्माष्टमी की हार्दिक शुभकामनाएँ !!

डॉ हरदीप कौर सन्धु-रामेश्वर काम्बोज ‘हिमांशु’

चोका

जन्माष्टमी

भाद्र अष्टमी

काली अंधेरी रात्रि

वर्षा बौरायी

धरा जलप्लावित

जगी दामिनी

निद्रा में थी ज़िन्दगी

कारागृह में

गूँजा शिशु -रुदन

देवकी फूली

वासुदेव थे मग्न

हुआ श्रीकृष्ण जन्म

-0-

ऋता शेखर मधु


Responses

  1. जन्म-समय का बहुत सुन्दर चित्रण है|
    उसके आगे का चोका मेरी ओर से,

    जन्माष्टमी है
    गिरधर गोपाल
    झूलेंगे आज
    मिलकर झुलाएँ
    श्रीकृष्ण मुरारी को|

    जन्माष्टमी की हार्दिक शुभकामनाएँ|

  2. बहुत सुन्दर चोका है…बधाई…।

  3. wah wah kya baat hai

    जगी दामिनी
    निद्रा में थी ज़िन्दगी
    कारागृह में
    गूँजा शिशु -रुदन
    देवकी फूली
    वासुदेव थे मग्न

    bahut sunder
    badhai
    rachana

  4. ऋता जी का चोका बहुत अच्छा है ….शुभकामनाओं सहित …


रचनाओं से सम्बन्धित आपकी सार्थक टिप्पणियों का स्वागत है । ब्लॉग के विषय में कोई जानकारी या सूचना देने या प्राप्त करने के लिए टिप्पणी के स्थान पर पोस्ट न करके इनमें से किसी भी पते पर मेल कर सकते हैं- hindihaiku@ gmail.com अथवा rdkamboj49@gmail.com.

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  बदले )

Google photo

You are commenting using your Google account. Log Out /  बदले )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  बदले )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  बदले )

Connecting to %s

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

श्रेणी

%d bloggers like this: