Posted by: रामेश्वर काम्बोज 'हिमांशु' | मई 18, 2011

हाइकु गीत


 [गीत की अपनी बहुत पुरानी परम्परा है । गेयता उसका प्रमुख गुण है । हाइकु को गीत की ऊँचाई तक ले जाना सरल नहीं है ; लेकिन जो सच्चे साधक हैं, उनके लिए कठिन भी नहीं है । हाइकु में गीत का विरोध प्राय: ऐसे लोग करते हैं जिनकी गीत पर पकड़ नहीं । साहित्य नियमों में बँधा होने पर भी अभिव्यक्ति के बहुत से मार्ग तलाश करता है । पिछले लगभग 10 महीनों में हमारे साथी रचनाकारों ने भरपूर सहयोग करके  अपने सार्थक रचनात्मक सहयोग से ‘हिन्दी हाइकु’ को आगे बढ़ाया है ।

डॉ सुधा गुप्ता जी हाइकु जगत की सर्वाधिक चर्चित  एव समर्थ कवयित्री हैं । आज  18 मई को आप 77 वर्ष पूरे कर चुकी हैं ।इस अवसर पर हाइकु -परिवार आपकी दीर्घायु होने की कामना करता है ।‘हिन्दी हाइकु’ को आपका स्नेह और प्रोत्साहन निरन्तर मिल रहा है । इस   अवसर पर आपके दो हाइकु गीत यहाँ दिए जा रहे हैं , जो साथी रचनाकारों और पाठकों को ज़रूर पसन्द आएँगे ।

-डॉ हरदीप सन्धु एवं रामेश्वर काम्बोज ‘हिमांशु’


1-जादू की छड़ी

 

जादू की छड़ी

भला कहाँ से पाई

बोल चितेरे !

      हज़ारों रंग

     यूँ सिलसिलेवार

      कैसे बिखेरे ?

धरा बुलाती

चित्रपटी-सी सजी

बड़े सवेरे

       बतासा खा के

     कचनार शाख़ से

      सारिका टेरे

अमराई में

कुहू-कुहू के बोल

शहद सने रे !

       घुमाई तूने

       कौन-सी जादू छड़ी

     बता चितेरे !

-0-

2-ताल मखाना

 

आएगा फिर

हरा, सुगन्ध भरा

ताल मखाना ।

      श्वेत गुलाबी

    खिले कमल-दल

     पोखर फूला

 

    भीनी खुशबू

    सुरंग मधुरिमा

     भँवरा भूला

हरित नाल

में लटक झूलता

ताल मखाना ।

      कुछ दिन को

     परिश्रमी बालक

      रोज़ी पाएँगे

 

        तैर-कूद वे

      पोखर में घुसके

       कुछ लाएँगे

हरी डिबिया

छिपा पड़ा है मीठा

ताल मखाना ।

     

      कभी सिंघाड़े

      कमल-फूल कभी

      वे पा जाएँगे

 

     दो-चार पैसे

     बदले में मिलेंगे

        कुछ खाएँगे

बेचेगा फिर

सजा टोकरी , बच्चा

ताल मखाना 

          -0-

   डॉ सुधा गुप्ता


Responses

  1. सुधा जी सर्वप्रथम जन्म दिवस की ढेरों शुभकामनायें. बहुत सुंदर हाइकु गीत हैं. आपकी रचनायों से बहुत कुछ सीखने को मिलता है आपसे ही तांका की विधा सीखी थी. रचनाकार पर आपके गर्मी के हाइकु पढ़े. एक से बढ़कर एक सुंदर.
    सुंदर रचनायों व् जन्म दिवस की ढेरों शुभकामनायों सहित
    सादर
    अमिता कौंडल

  2. सुधा जी ये दिन बार-बार आए और हम आपको बधाइयाँ देते रहें। भगवान् आपको दीर्घायु करे । आपकी छत्र छाया में हम सभी ऐसे ही आगे बढ़ते रहें। आपसे अच्छा हाइकु कौन लिख सकता है ।
    ताँका भी आपसे और भाई हिमांशु जी से ही सीखा है । आप दोनों को जितना धन्यवाद दिया जाए , कम है i
    पुन: जन्म दिन की बधाई !
    सादर
    रचना

  3. सुधा जी को जन्म दिन की बहुत बहुत बधाई और शुभकामनाएं ! हाइकु गीत पढ़कर आश्चर्य होता है कि हाइकु में ऐसा भी खूबसूरत प्रयोग भी हो सकता है ! नये हाइकु कवियों को इनसे अवश्य प्रेरणा मिलेगी।

  4. sunder haaiku geet

  5. Sushaji
    Janm din ki anek shubhkamnayein. aapki kalam ki sashktata ki khushboo in shabdon ke aakar se abhivyakt ho rahi hai
    जादू की छड़ी
    भला कहाँ से पाई
    बोल चितेरे !
    हज़ारों रंग
    यूँ सिलसिलेवार
    कैसे बिखेरे ?
    bahut sunder abhivyakti ke liye badhayi

  6. Sudhaji
    Namkaran mein chook hui mafi chahte hue sudhar kar rahi hoon
    sadar

  7. आदरणीय सुधा जी,
    जन्म-दिन की अनन्त हार्दिक शुभकामनाएं ….ईश्वर आपको दीर्घायु प्रदान करे और आप यूं ही लिखती रहें और हम सब आपसे यूं ही सीखते रहे।

    आप लेखन में नए -नए प्रयोग करके यूं ही लिखती रहियेगा और हम आपसे हमेशा कुछ नया सीखते रहेगे ।पुन: जन्म दिन की मंगलकामनाओं सहित….

    डा. रमा द्विवेदी

  8. आदरणीय सुधा जी,
    जन्म दिवस की ढेरों शुभकामनायें !
    आपकी रचनायों से बहुत कुछ सीखने को मिलता है !
    पहले ताँका सीखा है अब हाइकु गीत !!!
    पुन: जन्म दिन की बधाई !
    सादर
    हरदीप

  9. सुधा जी आपके हाइकू कमाल के हैं । वास्तव में अन्यत्र जहाँ कही हाइकु पढते समय एक कमी सी महसूस हुई वह यहाँ बिल्कुल नही हुई । एक लय शब्दों का माधुर्य व चित्रात्मकता इन्हें विशिष्ट बनाती है । धन्यवाद ।

  10. एक एक हाइकु मोती को
    सुधा ने पिरोया प्रेम डोर में
    बन गया हाइकु गीत।

    सजी है हिन्दी
    हाइकु गीतों की लड़ी को पहन
    गूँजा मन में अनूठा संगीत।
    बधाई सुधाजी…

  11. यह जानकर अत्यंत सुखद आश्चर्य हुआ कि आज 18 मई को सुधाजी 77 वर्ष पूरे कर चुकी हैं. उन्हें हाइकु परिवार की दादी मां के रुप में अनुभूत करना अच्छा लगता है


रचनाओं से सम्बन्धित आपकी सार्थक टिप्पणियों का स्वागत है । ब्लॉग के विषय में कोई जानकारी या सूचना देने या प्राप्त करने के लिए टिप्पणी के स्थान पर पोस्ट न करके इनमें से किसी भी पते पर मेल कर सकते हैं- hindihaiku@ gmail.com अथवा rdkamboj49@gmail.com.

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  बदले )

Google photo

You are commenting using your Google account. Log Out /  बदले )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  बदले )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  बदले )

Connecting to %s

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

श्रेणी

%d bloggers like this: