Posted by: रामेश्वर काम्बोज 'हिमांशु' | मई 15, 2011

कामना यही-


1

पूजा-रत हूँ
अभी माता-पिता की

सेवा में हूँ मै
2

तुम घृणा दो
मै करूंगा प्यार ही
मज़बूर हूँ

3
दुःख-सुख को
समभाव से लिया
जीवन जिया
4
नफ़रत में
कट गया जीवन
ये कैसी पूजा
5

कामना यही-
मित्र सच्चे  ही मिले
ज़िन्दगी भर

6
सद्भावना का
दर्पण दिखाया तो
पत्थर आया
7
तुम आए तो
यह गर्मी भी लगी
ठंडी हवा-सी
8
साँस बेवफा
क्या भरोसा इसका
मुसकरा दें
9
कविता सुन
कोई अच्छी-सी किन्तु
मन से गुन
10
बुरे छा गए
मगर भले लोग …
हाशिये पर
-0-
गिरीश पंकज
संपादक, ” सद्भावना दर्पण”,जी-३१,  नया पंचशील नगर,
रायपुर. छत्तीसगढ़. ४९२००१,मोबाइल : ०९४२५२ १२७२०


Responses

  1. पूजा-रत हूँ
    अभी माता-पिता की
    सेवा में हूँ मै

    सद्भावना का
    दर्पण दिखाया तो
    पत्थर आया

    बहुत सुन्दर लगे गिरीश पंकज जी के ये हाइकु।

  2. APKE HIKUE PADHE TAU LAGA MEMRE SHABDON NE DARPAN DEKHA
    DUKH SUKH KO
    SAMABHAAV SE LIYA
    JEEVAN JIYA
    TAU GIRISH JEE
    MN ME JAB
    SAMABHAAV KI STHITI
    VAHI HAI SHANTI BADHAEE-REKHA ROHATGI

  3. bahut sunder haiku hain man ko chhoo gaye
    तुम घृणा दो
    मै करूंगा प्यार ही
    मज़बूर हूँ

    दुःख-सुख को
    समभाव से लिया
    जीवन जिया

    नफ़रत में
    कट गया जीवन
    ये कैसी पूजा

    saadar
    amita

  4. आदरणीय गिरीश भैया बहुत ही सटीक व सारगर्भित हाइकु है जो सार्थक संदेश भी देते हैं और जीवन के अनुभवों पर आधारित मार्गदर्शन प्रदान करते हैं ।
    राजेश बिस्सा
    चौबे कालोनी रायपुर
    ०९३०२२४‍१०००


रचनाओं से सम्बन्धित आपकी सार्थक टिप्पणियों का स्वागत है । ब्लॉग के विषय में कोई जानकारी या सूचना देने या प्राप्त करने के लिए टिप्पणी के स्थान पर पोस्ट न करके इनमें से किसी भी पते पर मेल कर सकते हैं- hindihaiku@ gmail.com अथवा rdkamboj49@gmail.com.

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  बदले )

Google photo

You are commenting using your Google account. Log Out /  बदले )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  बदले )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  बदले )

Connecting to %s

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

श्रेणी

%d bloggers like this: