Posted by: रामेश्वर काम्बोज 'हिमांशु' | मार्च 31, 2011

परतें खोलीं


1

पहाड़ टूटा

हसरत का हर

कुचला बूटा

2

उसकी हँसी-

अँधियारी बस्ती  में

दीपक बले

3

आँसू टपका

कह गया मन की

वो अन्तर्व्यथा

4

परतें खोलीं

जब मन की ,तब

धरती डोली।

5

दुख गहरा-

पिया मिलन पर

कब ठहरा !

6

पानी बरसा

देह बनी धरती

मन भी भीगा।

7

जंगल कटे

धरा कंपकंपाए

सुनामी लाए।

8

प्रेम की भाषा

मुख से नहीं फूटे

आँखें बोलतीं।

9

छोटी-सी बात

कर जाया करती

बड़ा आघात।

10

प्रथम स्पर्श

रोम रोम सिहरे

चले न वश।

11

तुम यूँ आए

तपती धरा पर

बादल छाए।

12

बाँधो न आस

अपने ही अब तो

तोड़ें विश्वास।

सुभाष नीरव, नई दिल्ली

http://vaatika.blogspot.com/

http://srijanyatra.blogspot.com/


Responses

  1. Subhash Neerav ji ke sabhii haikoo men kavita ka purn sondary bodh nazar aata hai.

  2. कई सवाल
    सभी अनुत्तरित
    किससे पूछें.
    shaandar

  3. सभी हाइकु प्रथम स्थान के लायक हैं।
    उमेश मोहन धवन

  4. सभी हाइकु बहुत अछे लगे| यूँ आपकी कई रचना भी पढ़ चुकी हूँ| बहुत अच्छा लिखते हैं. बधाई और शुभकामनाएं सुभाष जी.

  5. छोटी-सी बात
    कर जाया करती
    बड़ा आघात।
    बिल्कुल सटीक…एक बार गोली का घाव तो भर जाता है, पर बोली का नहीं…।
    मेरी बधाई…।

  6. aapke haiku bahut paaasnd aaye .chhoti si baat/ kr jaya karati badha aaghat/
    bahut khoob

  7. उमेश महादोषी जी, दिलबाग विर्क जी, उमेश धवन जी, जेन्नी शबनम जी, प्रियंका जी और अंजना जी, आप सब की राय के लिए मैं बहुत आभारी हूँ।

  8. nirav ji ke haiku padhane ka avasar mila .ye to sab kamal ke hain hardik badhai kamboj ji ko dhanyvad


रचनाओं से सम्बन्धित आपकी सार्थक टिप्पणियों का स्वागत है । ब्लॉग के विषय में कोई जानकारी या सूचना देने या प्राप्त करने के लिए टिप्पणी के स्थान पर पोस्ट न करके इनमें से किसी भी पते पर मेल कर सकते हैं- hindihaiku@ gmail.com अथवा rdkamboj49@gmail.com.

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  बदले )

Google photo

You are commenting using your Google account. Log Out /  बदले )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  बदले )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  बदले )

Connecting to %s

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

श्रेणी

%d bloggers like this: