Posted by: हरदीप कौर संधु | फ़रवरी 28, 2011

पंख पसारे


1

नदी ताल में

बदलता मौसम

पागल हवा

2

पंख पसारे

हरा-भरा शज़र

तितली -संग

3

धूप का घर

यादों की टहनियाँ

हवा के संग

4

कस्तूरी-गन्ध

हिरन -सा चंचल

हुआ पवन

5

जिए न जिए

उमर बीत गई

न कुछ कहे

6

किसने सुनी

दर-दर भटकी

बूढ़ी कहानी

7

थोड़ा उजाला

अँधेरे की जागीर

सिमटा घर

8

सीढ़ियाँ चढ़

चाहत ने फैलाई

बाहें अपनी

-0-

डॉ अरुणा दुबलिश

अध्यक्ष हिन्दी- विभाग ,कनोहरलाल स्नातकोत्तर  महिला महाविद्यालय मेरठ –250002

Advertisements

Responses

  1. Daad dena chahti hoon in rimjhim karte hue shabnami haiku ke liye..Dil ke ankahe bhav shabdon mein kitne sunder lag rahe hain
    Devi Nangrani

  2. sabhi haiku eakse badhkar eak han…bahut2 badhai

  3. बहुत बेहतरीन हाइकु हैं…मेरी बधाई…।

  4. धूप का घर / यादों की टहनियाँ // कस्तूरी-गंध से चंचल हुयी पवन / सभी उपमान बेजोड़ हैं… और जिए न जिए उमर बीत गयी… तो ज़िंदगी का सच बयान करती पंक्तियाँ हैं.

  5. sunder haaiku

  6. पंख पसारे
    हरा-भरा शज़र
    तितली -संग
    3
    धूप का घर
    यादों की टहनियाँ
    हवा के संग
    किसने सुनी
    दर दर भटकी
    बूढी कहानी
    वाह सभी हाइकु बहुत सुन्दर लगे। बधाई।

  7. किसने सुनी
    दर-दर भटकी
    बूढ़ी कहानी
    kutna kuchh hai in tin panktiyon me.
    पंख पसारे
    हरा-भरा शज़र
    तितली -संग
    सीढ़ियाँ चढ़
    चाहत ने फैलाई
    बाहें अपनी
    bahut khoob ati sunder
    rachana

  8. sabhi haaiku bahut rang birange hain, jaise holi ke rang. bahut badhai sabhi rachnaakaaron ko.


रचनाओं से सम्बन्धित आपकी सार्थक टिप्पणियों का स्वागत है । ब्लॉग के विषय में कोई जानकारी या सूचना देने या प्राप्त करने के लिए टिप्पणी के स्थान पर पोस्ट न करके इनमें से किसी भी पते पर मेल कर सकते हैं- hindihaiku@ gmail.com अथवा rdkamboj49@gmail.com.

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  बदले )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out /  बदले )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  बदले )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  बदले )

w

Connecting to %s

श्रेणी

%d bloggers like this: